Contact Information

Sector 19, Noida, Uttar Pradesh

We Are Available 24/ 7. Call Now.

Fatehpur : फतेहपुर में भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने विधानसभा के उपचुनाव में बलदेव ठाकुर (Baldev thakur) को मैदान में उतारा है. कल केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag thakur) की मौजूदगी में बलदेव ठाकुर नामांकन पत्र दाखिल करेंगे. इसके पूर्व में पार्टी के मंडल अध्यक्ष व वर्तमान में प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रह चुके बलदेव ठाकुर पार्टी के प्रति निष्ठावान है और एक किसान परिवार से संबंध रखते हैं. लोगों के बीच अच्छा तालमेल व मिलनसार स्वभाव होने के कारण उन्हें कांग्रेस की ओर से खड़े भवानी पठानिया के किले को ध्वस्त करने के लिए पार्टी की और से चुनाव मैदान में उतारा गया है. आपको बता दें कि, इससे पहले कृपाल परमार (Krapal parmar) का नाम सूची में आगे चल रहा था, कृपाल परमार का क्षेत्र में विरोध होने के चलते जगदेव ठाकुर (Jagdev thakur) का नाम भी आगे आया था. लेकिन इसके बाद अब बलदेव ठाकुर को भाजपा ने मैदान में उतार दिया है. बलदेव ठाकुर पहले भी चुनाव लड़ चुके हैं और जनता में अच्छा तालमेल भी है.

इसके साथ ही जगदेव ठाकुर, रीता ठाकुर, बलदेव ठाकुर व हैप्पी ने एक साथ पार्टी की हाईकमान से मांग की थी कि टिकट स्थानीय नेता को दी जाए अन्य को नहीं, यही वजह रही है कि कृपाल परमार की टिकट काट दी गयी और बलदेव ठाकुर को पार्टी ने उपचुनाव के लिए चुना गया.

बलदेव ठाकुर ने लड़े हैं अब तक दो चुनाव

बलदेव ठाकुर ने अभी तक दो चुनाव लड़े हैं. इन्होने चुनाव एक आजाद व एक भाजपा की तरफ से लड़ा है और दोनों ही चुनाव हारे हैं. यह वर्तमान में प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य भी हैं. शुरू से ही ये पार्टी के साथ रहे और कार्य करते रहे, पार्टी ने उनकी निष्ठाओं को देखते हुए 2012 में फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र से चुनावों में उतारा था. लेकिन तब राजन सुशांत ने अपनी पत्नी को चुनाव में खड़ा कर दिया था. इस कारण बलदेव ठाकुर को हार का सामना करना पड़ा था.

फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र से 2017 में आजाद उम्मीदवार की और से लड़े और बाहर हुए इसके बाद फिर भाजपा का दामन थामा. सांसद के चुनाव में इन्हें वापस संगठन में जगह दी गई थी. भाजपा के मंडल अध्यक्ष भी रहे हैं इसी के साथ ये किसान परिवार से सम्बंधित है. उस वक्त राजन सुशांत विधायक थे. मतदाताओं में इनकी भी इनकी पकड़ अच्छी है. बड़ी बात यह है कि हैप्पी, जगदेव ठाकुर, रीता ठाकुर बलदेव ठाकुर चारों ने एकजुट होकर आवाज हाईकमान तक पहुंचाई थी कि स्थानीय को ही मान्यता दी जाए. अब इन सभी का साथ बलदेव ठाकुर को मिलेगा.

लेख – टीम वाच इंडिया नाउ

(हैलो दोस्तों! हमारे WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Share If You Liked

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *