Contact Information

Sector 19, Noida, Uttar Pradesh

We Are Available 24/ 7. Call Now.

New delhi : कर्नाटक विधानसभा में कांग्रेस विधायक के आर रमेश कुमार (K.R. Ramesh kumar) द्वारा दुष्कर्म को लेकर की गई टिप्पणी पर देश भर में कड़ी प्रतिक्रिया हुई है. केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने विधायक के बयान की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि संबंधित पार्टी को अपने विधायक को कानून के कठघरे में खड़ा करना चाहिए. दूसरी ओर सपा सांसद जया बच्चन (Jya bacchan) और राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी दुष्कर्म पर कांग्रेस विधायक की टिप्पणी की कड़ी निंदा करते हुए कार्रवाई की मांग की है. वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka gandhi) ने केआर रमेश कुमार को कड़ी फटकार लगाई है.

प्रियंका बोलीं- यह अक्षम्‍य है

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कर्नाटक विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष और कांग्रेस विधायक केआर रमेश कुमार के विवादित बयान की कड़ी आलोचना की. प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा- मैं इस बयान की कड़ी निंदा करती हूं. यह समझ से बाहर है कि कोई इस तरह के शब्द कैसे बोल सकता है. यह अक्षम्य है. दुष्‍कर्म एक जघन्य अपराध है.

स्मृति इरानी ने बोला हमला

शुक्रवार को लोकसभा में जब विपक्ष के सदस्य लखीमपुर कांड में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा (Ajay mishra) को पद से हटाने की मांग कर रहे थे तभी केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने यह मामला उठा दिया. उन्होंने कहा कि जो लोग प्लेकार्ड हाथ में लेकर नारे लगा रहे हैं उन्हें देखना चाहिए कि उनकी पार्टी के एक प्रतिनिधि ने गुरुवार को कर्नाटक विधानसभा में दुष्कर्म को लेकर कैसी टिप्पणी की है. अगर आपको वाकई में महिलाओं की कोई चिंता है तो कर्नाटक के सभी जनप्रतिनिधियों को विधायक के आचरण की निंदा करनी चाहिए. जो लोग सदन के वेल में खड़े हैं उन्हें अपनी पार्टी संगठन के पास जाना चाहिए और संबंधित व्यक्ति को कानून के सामने लाना चाहिए.

कड़ी कार्रवाई की भी मांग

पूर्व अभिनेत्री और सपा की सांसद जया बच्चन ने विधायक की टिप्पणी को बहुत ही शर्मनाक व्यवहार बताया है. उन्होंने कांग्रेस से अपने विधायक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की भी मांग की है.

रेखा शर्मा बोलीं- यह दुर्भाग्यपूर्ण

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा (Rekha sharma) ने कहा कि यह बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे बीच कुछ इस तरह के जनप्रतिनिधि मौजूद हैं. वे जब विधानसभा में इस तरह की टिप्पणी कर सकते हैं तो निजी जीवन में महिलाओं के साथ कैसे पेश आते होंगे इसका सहज अनुमान लगाया जा सकता है.

अयोग्य घोषित करने की मांग

दिल्ली स्थित एनजीओ (NGO) द सोसायटी फार सिक्योरिंग जस्टिस ने इस प्रकरण में कर्नाटक के राज्यपाल थावर चंद गहलोत से शिकायत दर्ज कराकर संबंधित विधायक को अयोग्य घोषित कर कानूनी कार्रवाई शुरू करने की मांग की है.

विधायक ने मांगी माफी

उधर शुक्रवार को कर्नाटक विधानसभा की कार्यवाही जैसे ही शुरू हुई कांग्रेस विधायक रमेश कुमार ने अपनी सीट पर खड़े होकर कहा कि कल मैंने जो टिप्पणी की थी उसके लिए माफी मांग रहा हूं. इस टिप्पणी का उद्देश्य इस सदन की गरिमा को गिराना नहीं था. मैं अपना बचाव नहीं करूंगा. मेरे कृत्य से देश के किसी भी भाग के लोगों को ठेस पहुंची है तो मैं इसके लिए क्षमा चाहता हूं.

दिया था यह बयान

उल्लेखनीय हैं कांग्रेस विधायक के आर रमेश कुमार ने गुरुवार को कर्नाटक विधानसभा की कार्यवाही के दौरान कहा था कि जब दुष्कर्म अवश्यंभावी हो तो आपको लेटकर उसका आनंद लेना चाहिए. उनकी इस टिप्पणी पर सदन के कुछ सदस्यों को हंसते हुए देखा गया था. रमेश कुमार कर्नाटक विधानसभा के अध्यक्ष भी रह चुके हैं.

लेख – टीम वाच इंडिया नाउ

Share If You Liked

Leave a Reply

Your email address will not be published.