Contact Information

Sector 19, Noida, Uttar Pradesh

We Are Available 24/ 7. Call Now.

New Delhi : हमारे लिए हमारा जीवन बहुत ही महत्वपूर्ण है, क्योंकि इस जीवन पर कई सारी जिंदगियां निर्भर करती हैं. बीमारी के बारे में कई लोगों की धारणाएं है कि यह केवल बुजुर्गों को ही होती है, लेकिन आज जिस तरह की हमारी जीवनशैली है. युवा भी इससे ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं और एक बार कोई बीमारी हो जाए, तो उसके खर्चे आपकी सारी जमा पूंजी को खाली कर सकते हैं. क्योंकि दवाइयों और अस्पतालों का खर्च एक आदमी की जेब पर बहुत ही भारी पड़ता है. लेकिन बीमारी को दूर करके जीवन भी बचाना जरूरी है.

इसलिए विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि आप अपने पास एक अच्छी सी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी जरूर रखें.

कई लोगों के मन में सवाल आता है कि एक हेल्थ इंश्योरेंस (Health insurance) पॉलिसी कब खरीदें? इस विषय पर इंश्योरेंस के जानकार का मानना है कि आपकी पहली सैलरी के साथ ही आपके पास एक हेल्थ इंश्योरेंस होना चाहिए. क्योंकि एक सही फाइनेंशियल प्लानर (Financial planner) वही है, जिसने युवावस्था में ही बचत और निवेश शुरू कर दिया है और अपने लिए लाइफ इंश्योरेंस या हेल्थ इंश्योरेंस की पॉलिसी खरीद ली है.

आइए जानते हैं कि कम उम्र में एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी लेना क्यों है महत्वपूर्ण –

बहुत कम प्रीमियम

कम प्रीमियम देकर ज्यादा से ज्यादा सुविधा मिल जाए यह हर कोई चाहता है. अगर आप युवावस्था में हैं और अपने लिए एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते हैं, तो आपको कम प्रीमियम पर ज्यादा कवरेज मिलेगा. जिसमें बीमारियां भी ज्यादा कवर होंगी. वहीं, अगर आप जितनी ज्यादा देरी करेंगे उतना ही ज्यादा आपको प्रीमियम देना पड़ेगा.

कंपनी से मिलने वाला मेडिकल कवर पर्याप्त नहीं

जॉब करने वाला व्यक्ति यह जानता है कि कंपनी की तरफ से मिलने वाला मेडिकल कवर उसके लिए पर्याप्त नहीं है. अगर कोई बड़ी बीमारी हो जाती है, तो अपने जेब से पैसे खर्च करने पड़ सकते हैं. ऐसी स्थिति न आए, इसलिए जॉब की शुरुआत में ही अपने पास हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी रख लेना उचित होगा, जो मेडिकल एमरजेंसी के साथ-साथ प्री-पोस्ट हॉस्पिटलाइजेशन (Pre-Post Hospitalization) में भी काम आएगा.

बीमारियों के लिए एक्सक्लूजन

आम तौर पर स्वास्थ्य बीमा कंपनियां जोखिम दर को कम रखने के लिए बीमारियों या भविष्य में होने वाली बीमारियों के लिए एक्सक्लूजन लगाती हैं. ऐसे एक्सक्लूजन होने से आप पूरे कवर का आनंद नहीं उठा सकते हैं. किसी गंभीर या बड़ी बीमारी से पीड़ित न होने पर अगर आप हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को जल्दी खरीदने की योजना बनाते हैं, तो आप एक फुल हेल्थ कवर का आनंद लेने में सक्षम हो पाते हैं.

कम उम्र में बढ़ रही हैं बीमारियां

जिस तरह से व्यक्ति के जीवन में सुविधाएं बढ़ रही हैं, सेडेंटरी लाइफस्टाइल का कल्चर भी तेजी से विकसित हो रहा है. युवा इस ओर ज्यादा आकर्षित हो रहे हैं. इस तरह का जीवन कई तरह की बीमारियों को जन्म देता है. इसलिए खुद को तैयार रखना बहुत जरूरी है और समय से पहले एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी जरूर खरीद लें. कई पॉलिसी ऐसी होती है, जो आपको छह महीने या साल में एक बार हेल्थ चेकअप की सुविधाएं भी प्रदान करती है.

वेटिंग पीरियड का लाभ

बुजुर्गों के मुकाबले युवावस्था में बीमारी की संभावना कम होती है. इसका फायदा इंश्योरेंस के वेटिंग पीरियड (Waiting Period) में देखने को मिलता है, जहां रोगी विभिन्न बीमारियों के लिए जल्द से जल्द हेल्थ कवर का फायदा लेना शुरू कर देता है. बीमारियां जिस तरह से बढ़ रही हैं हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी की जरूरत उतनी ही ज्यादा बढ़ेगी. इसलिए पॉलिसी को लेने में देरी करना कोई समझदारी नहीं है.

आप जितनी जल्दी एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी लेंगे उतनी ही जल्दी आप इसका फायदा भी उठा पाएंगे.

लेख – टीम वाच इंडिया नाउ

Share If You Liked

Leave a Reply

Your email address will not be published.