Contact Information

Sector 19, Noida, Uttar Pradesh

We Are Available 24/ 7. Call Now.

New Delhi : आप सभी जानते होंगे कि, गाजर खाने के अनेक फायदे हैं लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि कुछ लोग ऐसे भी है जिन्हें गाजर नहीं खानी चाहिए. वरना इसके फायदे के जगह आपको नुकसान हो सकते हैं. अब आपके मन में ये सवाल होगा की वो कौन से लोग है जिन्हे गाजर का सेवन नहीं करना चाहिए या फिर कम करना चाहिए. तो चलिए जानते हैं कि, किसे गाजर नहीं खानी चाहिए.

कुछ लोगों को गाजर खाते ही होती है एलर्जी

बता दें कि कुछ लोगों को गाजर खाने के बाद शरीर पर एलर्जी (Allergies) होने लगती है. दरअसल, कुछ लोग गाजर के प्रति ज्यादा ही अतिसंवेदनशील होते हैं और ऐसे लोगों में कुछ सामान्य दुष्प्रभाव त्वचा पर चकत्ते पड़ जाते हैं. इसके अलावा दस्त हो जाते हैं. ऐसी एलर्जी गाजर के पराग में मौजूद एलर्जेन के कारण होती है.

डायबिटीज के मरीज को नहीं खानी चाहिए गाजर

इसके अलावा गाजर में नेचुरल शुगर (Natural Sugar) ज्यादा होता है. ऐसे में डायबिटीज (Diabetes) वाले लोगों को गाजर का सेवन बहुत अधिक नहीं करना चाहिए. क्योंकि इसमें शुगर की मात्रा अधिक होती है. गाजर में मौजूद चीनी ग्लूकोज (Glucose) में बदल जाती है और इससे शरीर का शुगर लेवल तेजी से बढ़ जाता है.

स्तनपान करने वाली महिलाओं को रखना चाहिए विशेष ध्यान

वहीं जो महिलाएं स्तनपान कराती हैं उन्हें बेहद ही ध्यान से कुछ भी खाना होता है. क्योंकि आप कुछ भी खाती हैं तो वह आपके बच्चे तक पहुंचता है. स्तनपान कराने वाली माताओं को बड़ी मात्रा में गाजर का रस पीने से बचना चाहिए क्योंकि अध्ययनों में कहा गया है कि गाजर स्तन के दूध का स्वाद बदल देती है.

छोटे बच्चों को कम मात्रा में दें गाजर

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, गाजर छोटे बच्चों के लिए ज्यादा मात्रा में असुरक्षित हो सकती है. इसलिए छोटे बच्चों को गाजर बहुत ही कम खिलानी चाहिए. तो आप भी इन बातों को ध्यान में रखते हुए गाजर खाएंगे तो आपको नुकसान नहीं होगा.

ज्यादा मात्रा में गाजर खाने पर त्वचा में बढ़ता है पीलापन

गाजर में बीटा कैरोटीन (Beta carotene) की मात्रा बहुत अधिक होती है, जो शरीर में विटामिन ए (Vitamin A) में बदल जाती है. गाजर का ज्यादा मात्रा में सेवन करने से आपके रक्त में बड़ी मात्रा में कैरोटीन (Carotene) हो जाता है, जो कैरोटेनेमिया (Carotenemia) का कारण बनता है जो की त्वचा में पीलापन बढ़ाने लगता है.

लेख – टीम वाच इंडिया नाउ

Share If You Liked

Leave a Reply

Your email address will not be published.