Contact Information

Sector 19, Noida, Uttar Pradesh

We Are Available 24/ 7. Call Now.

New Delhi : 5 राज्यों में चुनावी सियासत गरमा-गर्मी में है. चुनावी मुद्दों में किसान मुख्य किरदार के रूप में हैं. क्योंकि एक बड़ी आबादी किसान मतदाताओं की है. जाहिर है कि किसान चुनाव में भाग्यविधाता हैं. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को आम बजट पेश किया. इस दौरान किसानों की निगाहें भी बजट पर ही थीं. लिहाजा इस बजट को अगले 25 साल का ब्लू प्रिंट (Blue Print) बताते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कृषि क्षेत्र के लिए जरूरी ऐलान किए.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitaraman) ने मंगलवार को आम बजट पेश किया. इस दौरान उन्होंने किसानों के लिए बड़े ऐलान किए है. इसमें गंगा किनारे ऑर्गेनिक खेती से लेकर किसानों को डिजिटल (Digital) करने तक की बातें भी शामिल हैं.

आइये इन 10 पॉइंट्स से जानते हैं कि बजट से किसानों की झोली में क्या आया?

बजट में हुए ये 10 बड़े ऐलान 

  • किसानों के खातों में 2.37 लाख करोड़ रुपये की MSP सीधे ट्रांसफर की जाएगी
  • गंगा किनारे ऑर्गेनिक खेती को बढ़ावा दिया जाएगा.
  • तिहलन के आयात की निर्भरता को कम किया जाएगा
  • किसानों को डिजिटल करने के प्रयास को तेज किया जाएगा 
  • निजी क्षेत्र को कृषि क्षेत्र में बढ़ावा देने के लए PPP मॉडल पर काम किया जाएगा.
  • नाबार्ड के जरिए खेती के क्षेत्र में स्टार्टअप को बढ़ावा दिया जाएगा. 
  • केमिकल मुक्त खेती को बढ़ावा दिया जाएगा.
  • केमिकल मुक्त खेती को बढ़ावा दिया जाएगा.
  • 44,000 करोड़ रुपए की लागत से केन-बेतवा नदी जोड़ने की परियोजना शुरू होगी, जिससे 9 लाख किसानों को लाभ होगा.
  • फसल मूल्यांकन, भूमि रिकॉर्ड, कीटनाशकों के छिड़काव के लिए किसान ड्रोन के उपयोग को बढ़ावा दिया जाएगा.
  • एग्री यूनिवर्सिटी को बढ़ावा दिया जाएगा.

नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार इस बजट को अमृत काल का बजट कह रही है. सरकार ने कहा कि बजट में किसानों के हितों के लिए कई योजनाएं हैं. उनकी बेहतरी के लिए सरकार के पास मास्टर प्लान है सरकार ने बजट में 2023 को मोटा अनाज वर्ष घोषित करने की बात कही है. सरकार मोटे अनाज उत्पादों की राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय ब्रांडिंग पर जोर देगी. इसके तहत 1 लाख मीट्रिक टन धान की ख़रीद की उम्मीद है. इससे 1 करोड़ से अधिक किसान लाभान्वित होंगे. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि रेलवे छोटे किसानों के लिए नए उत्पाद विकसित करेगा.

बजट को लेकर विपक्ष की प्रतिक्रिया

कांग्रेस (Congress) ने आरोप लगाया कि बजट में सैलरीड क्लास और मिडिल क्लास को राहत ना देकर विश्वासघात किया गया है. कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने मोदी सरकार के इस बजट को कुछ नहीं बजट का नाम दिया है.

वहीं कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) ने कहा कि ये अमीरों का बजट है. ये गरीबों को बजट नहीं है. इस बजट से किसी को फायदा होने वाला नहीं है.

वहीं वामपंथी नेता सीताराम येचुरी (Sitaram Yechuri) ने बजट से निराशा जताते हुए कहा कि आज हमारे देश में 20 करोड़ युवा हैं, जिनके पास रोज़गार नहीं है, महंगाई है, भुखमरी बढ रही है. बजट से आम लोगों को कुछ भी राहत नहीं मिली है.

लेख – टीम वाच इंडिया नाउ

Share If You Liked

Leave a Reply

Your email address will not be published.