Contact Information

Sector 19, Noida, Uttar Pradesh

We Are Available 24/ 7. Call Now.

Fatehpur : नौकरी दिलाने के नाम पर आय दिन लोगों से ठगी का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है. एक बार फिर ITI (औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान) में चतुर्थ श्रेणी के पद पर नौकरी दिलाने का झांसा देकर एक युवक से ठगों ने तीन (3) लाख रुपये ऐंठ लिए. इसके बाद उसे दो वर्षों तक दौड़ाते रहे.

मामले में जब पुलिस ने रिपोर्ट नही दर्ज की तो उसने कोर्ट में इसकी शिकायत की. कोर्ट के आदेश पर कोतवाली पुलिस ने छह आरोपितों पर एससी-एसटी एक्ट (SC-ST Act) के तहत धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया है.

सदर कोतवाली के गढ़ीवा निवासी रामविशुन (Ramvishun) ने बताया कि 30 दिसंबर 2016 को जिला सेवायोजन कार्यालय के पास उसकी मुलाकात शिवबचन यादव (Shivbachan Yadav) से हुई, जिसने खुद को शिक्षक संघ फतेहपुर का प्रभारी बताया. इस दौरान उसने ITI में चतुर्थ श्रेणी के पद पर नौकरी लगवा देने की बात कही. झांसे में आकर युवक उसने 29 नवंबर 2017 से पांच जनवरी 2018 के मध्य तीन लाख रुपये दे दिए. 13 अप्रैल 2018 को लखनऊ स्थित लायटीन मैनेजमेंट सर्विलस प्राइवेट लि. शहीदपथ कार्यालय बुलाया और वहां पर फर्जी ज्वाइनिग पत्र (Joining Latter) भी दे दिया. हकीकत पता चलने पर उसने रुपये मांगे तो दो वर्षों तक दौड़ाते रहे. इस पर उसने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया.

शहर कोतवाल अरुण कुमार चतुर्वेदी (Arun Kumar Chaturvedi) ने बताया कि, कोर्ट के आदेश पर शिवबचन यादव, सुरेंद्र कुमार यादव, वीरेंद्र, धर्मेंद्र , रामबचन यादव पुत्र जमुना प्रसाद निवासी रूस्तमपुर यादव बस्ती चौक, चौबेपुर सारनाथ, वाराणसी और अनिल सिंह निवासी आशियाना, लखनऊ मध्य के खिलाफ धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कर जांच की जा रही है. इसके पहले वर्ष 2019 में इसमें एक एक ठग पर मुकदमा दर्ज हुआ था. इन सभी की जांच की जा रही है.

लेख – टीम वाच इंडिया नाउ

Share If You Liked

Leave a Reply

Your email address will not be published.