Contact Information

Sector 19, Noida, Uttar Pradesh

We Are Available 24/ 7. Call Now.

Fatehpur : फतेहपुर जनपद में एक सनसनीखेज मामाल सामने आया है. यहां दो युवकों ने चांदपुर (Chandpur) थाने के एसएचओ (HSO) पर डेढ़ लाख रुपए लेने का आरोप लगाया है. युवकों ने कहा कि, एसएचओ और गांव के पूर्व प्रधान मिलकर पचास हजार रुपए के लगातार मांग कर रहे हैं. इसके लिए लगातार दबाव बना रहे हैं. परेशान होकर दोनों युवकों ने शुक्रवार को एसपी (SP) से मुलाकत करके अपनी समस्या बताई.

पीड़ित युवकों ने बताई पूरी बात

चांदपुर थाना के अंतर्गत दपसौरा गांव में रहने वाले बबलू निषाद (Bablu Nishad) और उसका पारिवारिक प्रदीप कुमार (Pradeep Kumar) शुक्रवार को एसपी के पास पहुंचे. उन्होंने एसपी से अपनी कहानी बताई. बबलू ने बताया कि, 12 दिसंबर को चांदपुर थानाध्यक्ष कुछ सिपाहियों के साथ मुझे अपने साथ ले गए. इसके बाद एक हफ्ते तक दपसौरा पुलिस चौकी पर रखा.

17 दिसंबर को मेरे और प्रदीप के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कर दिया. इसके बाद 18 दिसंबर को दपसौरा चौकी से चांदपुर थाना ले गए, जहां 25 दिसंबर तक रखकर मेरा मानसिक और शारीरिक तौर पर उत्पीड़न करते रहे. इस दौरान एसओ योगेश कुमार (SO Yogesh Kumar) के करीबी दपसौरा के पूर्व प्रधान रमेश निषाद (Ramesh Nishad) ने थाने में ही पुलिस के सामने दो लाख रुपए में मामले को रफा-दफा करने की बात कही.

बबलू ने इतने रुपए देने से इनकार किया तो एसओ ने गाली-गलौच करते हुए जेल भेजने की धमकी दी. पूर्व प्रधान रमेश के साथ पुलिस पीड़ित के परिवार पर पैसे देने का लगातार दबाव बनाती रही. पीड़ित के भाई राजा (Raja) ने 29 दिसंबर को 50 हजार रुपए मदरी बाजारा में रात करीब 12 बजे के लगभग दे दिया. 31 दिसंबर को एक लाख रुपए दपसौरा स्थित फलतेस्वर शिव मंदिर के पास सुबह साढ़े सात बजे के लगभग दिया.

गांव में ना रहने का बनाया एसएचओ ने दबाव

पीड़ित को गांव में ना रहने के लिए पुलिस ने दबाव बनाया. पीड़ित को हमीरपुर जिले के हजियाना मोहल्ला में भेज दिया, जहां पीड़ित की बहन रहती है जो वहां करीब 15 दिनों तक रहा. दिनांक 17 फरवरी 2022 को दोबारा पूर्व प्रधान रमेश पीड़ित के घर पहुंचा और अपने नंबर से एचएसओ चांदपुर योगेश कुमार से बात कराई थी.

युवती के पीड़ित युवक के पक्ष में हो चुके हैं बयान

युवकों के उपर लगाए गए मुकदमें में वादी पीड़िता के 164 के बयान भी हो चुके हैं. बातचीत के दौरान आरोप लगाने वाली युवती ने बताया कि, एक रसूखदार व्यक्ति के कहने से मेरे मां बाप ने यह झूंठा आरोप लगवाया था. मेरे साथ ऐसा कुछ नहीं हुआ है. युवक ने बताया कि पुलिस को दिए गए डेढ़ लाख रुपए दूसरों से कर्ज लिया था. कर्जदरों को पैसे वापसी के दबाव पर पांच फरवरी 2022 को अपनी तीन बिस्वा जमीन बेंचकर कर्जा वापस किया है.

इस मामले में एसपी ने बताया कि पीड़ित युवक आए थे. मामले की जांच कराकर उचित कार्रवाई की जाएगी.

लेख – टीम वाच इंडिया नाउ

Share If You Liked

Leave a Reply

Your email address will not be published.