Contact Information

Sector 19, Noida, Uttar Pradesh

We Are Available 24/ 7. Call Now.

Fatehpur : फतेहपुर शहर में कोतवाली क्षेत्र के राधानगर (Radhanagar), खंबापुर (Khambapur) तथा विष्णुपुरी कॉलोनी (Vishnupuri Colony) में आज लंबे अरसे से मीटर रीडर अवध नारायण यादव (Awadh Narayan Yadav) बिजली का बिल निकाल रहे हैं. काफी दिनों से यह पाया गया है कि, मीटर रीडर अवध द्वारा लोगों के गलत तरीके से बिल निकाले जा रहे हैं. राधा नगर पश्चिमी नई बस्ती में कई घरों में तो 10000 से ₹15000 एक महीने का बिल निकाल दिया गया.

उपभोक्ताओं ने जब इसकी शिकायत मीटर रीडर अवध नारायण यादव से की तो उन्होंने कहा कि, बिजली ऑफिस चले जाइए और वहां से बिल सही करवा कर जमा कर दीजिए. ऐसा एक दो लोगों के साथ नहीं बल्कि 3 दर्जन से ज्यादा उपभोक्ताओं के साथ किया जा चुका है. मीटर रीडर अवध नारायण द्वारा उन घरों का बिजली का बिल न्यूनतम निकाला जाता है जिन घरों से खर्च के रूप में 50 से ₹100 मिलते हैं तथा जिन घरों से रुपया नहीं मिलता है उनके बिलों में गड़बड़ी की जाती है.

इसके साथ ही जिन घरों से रुपया नहीं मिलता है उनके मीटर तो घरों के बाहर लगवाए गए हैं किंतु जिन से प्रतिमाह खर्च मिल रहा है उनके मीटर आज भी घरों के अंदर लगे हुए हैं. कई घरों में तो रीडिंग डंप कर दी जाती है, जिससे कुछ समय पश्चात इकट्ठे बिजली का बिल 15000 से ₹20000 आता है. जिससे उपभोक्ताओं को विद्युत बिल जमा करने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है.

उपभोक्ता जब भी विद्युत विभाग द्वारा अपने बिल की जांच करा कर उसे सही करवाने के लिए चक्कर लगाते हैं तो उन्हें यह कहकर लौटा दिया जाता है कि, आपके मीटर का बिल डंप था और बिल सही कट कर आया है, इसमें अब कुछ नहीं हो सकता है आपको पूरा बिल जमा करना पड़ेगा.

आखिरकार मीटर रीडर की गलती का हर्जाना उपभोक्ताओं को क्यों भरना पड़ रहा है?

फिलहाल, तो राधानगर वासियों ने मीटर रीडर अवध नारायण को राधानगर से हटाकर किसी नए मीटर रीडर को रखे जाने की मांग की है. अब देखना यह है कि, विद्युत विभाग कितना सक्रिय होकर इस कार्य को अंजाम दे पाता है.

लेख – टीम वाच इंडिया नाउ

Share If You Liked

Leave a Reply

Your email address will not be published.