New Delhi : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) के अभिभाषण के बाद संसद के बजट सत्र की शुरुआत हुई. इसके बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने लोकसभा और राज्यसभा में आर्थिक समीक्षा पेश की. आम तौर पर आर्थिक समीक्षा तैयार करने का काम चीफ इकोनॉमिक एडवाइजर (Chief Economic Advisor) का होता है लेकिन इस बार इसे प्रिंसिपल इकोनॉमिक एडवाइजर (Principal Economic Advisor) संजीव सान्याल (Sanjeev Sanyal) और अन्य अधिकारियों ने मिलकर तैयार किया है. इसका कारण है कि चीफ इकोनॉमिक एडवाइजर (CEA) का पद करीब एक महीने से खाली पड़ा था.

बजट (Union Budget) से एक दिन पहले आज संसद में आर्थिक समीक्षा (Economic Survey) पेश की गई. समीक्षा में चालू वित्त वर्ष के लिए ग्रोथ रेट 9.2 फीसदी रहने का अनुमान जताया गया. अगले वित्त वर्ष के बारे में कहा गया कि अर्थव्यवस्था के बढ़ने की दर कुछ कम होकर 8 से 8.5 फीसदी के बीच रह सकती है.

ग्रोथ को सपोर्ट करेंगे ये फैक्टर

समीक्षा में कहा गया कि महामारी से आने वाले समय में अर्थव्यवस्था पर कोई नकारात्मक असर नहीं होगा, यह मानते हुए ग्रोथ रेट का अनुमान लगाया गया है. बड़े पैमाने पर वैक्सीन की कवरेज, सप्लाई से जुड़े रिफॉर्म्स से हुए फायदे, नियमों में ढील दिए जाने, एक्सपोर्ट में ठोस वृद्धि और पूंजीगत खर्च बढ़ाने की सहूलियत से ग्रोथ को मजबूती मिलेगी

शाम में मीडिया को संबोधित करेंगे सीईए

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) के अभिभाषण के बाद संसद के बजट सत्र (Budget Session) की शुरुआत हुई. इसके बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में आर्थिक समीक्षा पेश की. चीफ इकोनॉमिक एडवाइजर (CEA) वी. अनंत नागेश्वरन (V. Anant Nageshwar) शाम 03:45 बजे समीक्षा को लेकर मीडिया को संबोधित करेंगे.

इस बार एक ही वॉल्यूम में आर्थिक समीक्षा

लोकसभा की कार्यवाही आर्थिक समीक्षा पेश होने के बाद स्थगित हो गई. इसके बाद 02:30 बजे राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होने वाली है. आर्थिक समीक्षा को ऊपरी सदन में भी पटल पर रखा जाएगा. राज्यसभा में रखे जाने के बाद समीक्षा 03:30 बजे यूनियन बजट के पोर्टल और ऐप पर उपलब्ध हो जाएगी राज्यसभा में रखे जाने के बाद समीक्षा 03:30 बजे यूनियन बजट के पोर्टल और ऐप पर उपलब्ध हो जाएगी. इस बार की आर्थिक समीक्षा एक ही भाग में है. इससे पहले तक आर्थिक समीक्षा के दो वॉल्यूम होते थे. दिसंबर से सीईए का पद खाली होने के कारण इस बार सिंगल वॉल्यूम आर्थिक समीक्षा तैयार की गई है.

समीक्षा आने से ठीक पहले मिले नए सीईए

पूर्व सीईए KV Subramanian ने दिसंबर 2021 में 3 साल का अपना कार्यकाल पूरा कर लिया. इसके बाद वह अकादमिक जगत में वापस लौट गए सरकार ने सीईए पद के लिए पिछले सप्ताह शुक्रवार को वी. अनंत नागेश्वरन के नाम का ऐलान किया. इस आर्थिक समीक्षा को तैयार करने का काम KV Subramanian के कार्यकाल में ही शुरू हो गया था. बाद में सीईए का पद खाली होने के चलते इसे प्रिंसिपल इकोनॉमिक एडवाइजर संजीव सान्याल की अगुवाई में तैयार किया गया

लेख – टीम वाच इंडिया नाउ