Fatehpur : नई तकनीक के इस युग में अब सारे काम ऑनलाइन (Online) हो गए है. किसी भी काम को करने के लिए अब आपको ज्यादा परेशान नहीं होना पड़ता है. अब कुछ ऐसा ही अस्पतालों को लेकर भी हो गया है, इसके मुताबिक जिला व सामुदायिक अस्पतालों में क्या-क्या सुविधाएं है. कहां पर कितने मरीज भर्ती हैं और उन्हें क्या-क्या सुविधाएं दी जा रही हैं इसी तरह की तमाम जानकारी अब मेरा अस्पताल पोर्टल पर अपलोड (Upload) की जाएगी.

पोर्टल पर दर्ज जानकारी पर ही अस्पतालों की ग्रेडिग शासन स्तर से तय की जाएगी. जिसमे मरीज के मोबाइल नंबर पर स्वास्थ्य मंत्रालय के काल सेंटर से फीडबैक (Feedback) भी लिया जाएगा.

पोर्टल पर दर्ज जानकारी व मरीज से मिली जानकारी का मिलान करके अस्पताल को नंबर दिए जाएंगे. जिला अस्पताल व महिला अस्पताल में यह सुविधा शुरू कर दी गई है और बाकी सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में यह व्यवस्था जल्द ही लागू कर दी जाएगी.

मेरा अस्पताल पोर्टल के संचालन के लिए सभी सीएचसी (CHC) पर नोडल की नियुक्ति की जाएगी. इस व्यवस्था के लागू होने से अस्पताल की व्यवस्था को साफ देखा और समझा जा सकेगा, इसके साथ ही मरीजों को मिलने वाली सुविधा भी बेहतर होगी. अस्पतालों में जो भी गड़बड़ी की आशंका बनी रहती है उन सब पर भी रोक लगाई जा सकेगी.

किस केंद्र पर कितने मरीज भर्ती हैं, उन्हें क्या सुविधाएं मिल रही है. वहां कितना स्टाफ कार्य कर रहा है इस तरह की सारी जानकारी आपको अब पोर्टल पर मिलेगी. इस बदलाव से मरीजों को इलाज में काफी राहत मिलेगी, इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग के काल सेंटर से स्वास्थ केंद्र के बारे में भी फीडबैक लिया जाएगा. पोर्टल पर दर्ज जानकारी व मरीज के माध्यम से मिली जानकारी के आधार पर ही केंद्रों पर वरीयता का क्रम निर्धारित किया जाएगा.

कोई भी देख सकता है पोर्टल पर अपलोड जानकारी

अस्पतालों पर कैसे-कैसे मरीज भर्ती हैं, इनका कैसे इलाज चल रहा है, मरीज़ों को क्या दवाएं दी जा रही हैं आदि जानकारी मेरा अस्पताल पोर्टल पर जाकर कोई भी देख सकता है. इस पूरी प्रक्रिया को अपनाने का मूल उद्देश्य अस्पतालों को ई-हास्पिटल (E-hospital) तरफ लेकर जाना है.

सूचना के अनुसार केंद्र सरकार की इस योजना का दायरा अब जल्द ही सीएचसी (CHC) व पीएचसी (PHC) पर भी लागू किया जाएगा.

आपको बता दें कि, मेरा अस्पताल योजना के तहत जनपद के सभी अस्पताल जल्द से जल्द पोर्टल से जुड़ जाएंगे. जिला अस्पताल व महिला अस्पताल में इस पर कार्य शुरू हो गया है. इस व्यवस्था से अस्पताल में भर्ती मरीज व उसके बीमारी संबंधी सभी जानकारी मिलती रहेगी, इसके अलावा मरीज का कैसा इलाज चल रहा है, इसका भी ब्यौरा पोर्टल पर उपलब्ध रहेगा.

लेख – टीम वाच इंडिया नाउ